Monday, 24 October 2016

खनन माफिया की मदद से राहुल ने जीती अमेठी


--राहुल गांधी पर तीन मंत्रियों का हमला--
-स्मृति का कांग्र्रेस उपाध्यक्ष पर गायत्री से मिलीभगत का आरोप
-अमेठी में खाट सभा की चुनौती दे कहा, यहां खड़ी हो जाएगी खाट
----
डॉ.संजीव, अमेठी
रानी पद्मावती के प्रेम में राजाओं के युद्ध की कथा पद्मावत लिखने वाले महाकवि मलिक मोहम्मद जायसी की जन्मभूमि जायस शनिवार को केंद्र सरकार के तीन मंत्रियों के आक्रामक हमले की गवाह बनी। निशाने पर रहे क्षेत्रीय सांसद व कांग्र्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी। कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने तो यहां तक कह दिया कि खनन माफिया व प्रदेश सरकार में मंत्री गायत्री प्रजापति की मदद से राहुल ने अमेठी सीट जीती।
पिछले लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी को चुनौती देने वाली स्मृति ईरानी शनिवार को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर व केंद्रीय पेट्रोलियम राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) धर्मेन्द्र प्रदान के साथ अमेठी के जायस में राजीव गांधी पेट्रोलियम प्रौद्योगिकी संस्थान के उद्घाटन व गौरीगंज में उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन वितरण समारोह में भाग लेने पहुंची थीं। जायस का संस्थान पूर्व प्रधानमंत्री के नाम पर होने के बावजूद वहां राहुल गांधी के न आने पर सवाल उठे, तो गौरीगंज के कार्यक्रम में स्मृति ईरानी ने उन पर सीधे हमला बोल दिया। उन्होंने कहा कि वर्षों से सत्ता पर कब्जा किये लोगों ने जानबूझकर घर में अंधेरा किया। जायस की बेटियों ने स्कूल मांगा तो उन्हें जेल भेज दिया गया। कहा कि राहुल गांधी किसानों के समर्थन में प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करते हैं, जबकि अमेठी में ही उन्होंने राजीव गांधी फाउंडेशन व सम्राट साइकिल के नाम पर किसानों की जमीन हथिया रखी है। किसानों को उनकी जमीन वापस करने चुनौती देने के साथ कहा कि वे अमेठी में खाट सभा करें, फिर खुद ही कहा, वे यहां नहीं आएंगे क्योंकि ऐसा करने पर यहां उनकी खटिया खड़ी हो जाएगी। वे यहां आकर प्रदेश सरकार का भी विरोध नहीं कर सकते, क्योंकि अमेठी जीतने के लिए उन्होंने प्रदेश सरकार के मंत्री व खनन माफिया गायत्री प्रसाद प्रजापति की मदद ली थी। वे बताएं कि उन्होंने खनन घोटाले में लिप्त गायत्री प्रजापति की मदद क्यों ली? जिस साइकिल पर वे अभी तक सवार थे, अब उसे पंचर करना चाहते हैं। इसी तरह जिस हाथी को वे दिल्ली ले गए, आज उसी से जूझ रहे हैं।
...तो पप्पू फेल हो गया
जायस में राजीव गांधी पेट्रोलियम प्रौद्योगिकी संस्थान के नए परिसर का उद्घाटन करते हुए पेट्रोलियम राज्यमंत्री धर्मेन्द्र प्रधान के निशाने पर भी राहुल गांधी रहे। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर स्थापित इस संस्थान के उद्घाटन समारोह में उन्होंने राहुल को बुलाया था किन्तु वे नहीं आये। ऊपर से चिट्ठी लिखी कि समय नहीं था, पहले समय लेना चाहिए था। कहा कि अब संस्थान में जल्द ही स्वामी विवेकानंद की आदमकद प्रतिमा लगाई जाएगी। उसके लिए अभी से राहुल गांधी से समय मांगेंगे, वे आएं और हम सब रात भी यहीं बिताएंगे। राहुल गांधी द्वारा चिट्ठी में संस्थान को मंजूरी व अनुदान की बात पर कहा कि छह साल में कांग्र्रेस सरकार ने 129 करोड़ रुपये दिये थे, जबकि दो साल में भाजपा सरकार ने इस संस्थान के लिए 302 करोड़ रुपये दिये। ऑयल कंपनियों ने 200 करोड़ रुपये का कॉरपस फंड अलग से बनाया। ऐसे में गणित के हिसाब से स्पष्ट हो जाएगा कि पप्पू फेल हुआ या पास। इस पर जवाब आया, पप्पू फेल हो गया। गौरीगंज में गरीब महिलाओं को गैस कनेक्शन वितरण कार्यक्रम में भी उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के लिए पेट्रोलियम विभाग के अधिकारी शामिल हसन राहुल गांधी को तीन बार न्यौता देने गए किन्तु उनके कार्यालय ने न्यौता लेने तक से मना कर दिया। 28 साल गांधी परिवार व 12 साल राहुल गांधी के प्रतिनिधित्व के बावजूद अमेठी की हालत इतनी खराब है कि लोगों को शुद्ध पानी तक नहीं मिलता। राहुल मोदी से दो साल का हिसाब मांग रहे हैं, वे पहले सिर्फ अमेठी का ही हिसाब दे दें। कटाक्ष किया कि खाट सभा कर रहे राहुल को कभी खटमल ने नहीं काटा, इसीलिए वे आलू का कारखाना लगवा रहे हैं।
अन्याय का बदला लेती अमेठी
मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि 70 साल से अमेठी-रायबरेली में एक ही घराने की सत्ता रही है। इसके बावजूद बदहाली के लिए उन्हें जवाब देने हेंगे। पूरे देश में लोग समझते हैं कि अमेठी-रायबरेली की धरती पर स्वर्ग होगा, पर यहां समस्याओं का अंबार है। वैसे अमेठी अन्याय का बदला लेती है। 1977 में इमरजेंसी के बाद अन्याय करने वालों को निकाल बाहर किया था, वह फिर ऐसा ही करेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा सबको शिक्षा-अच्छी शिक्षा पर जोर दे रही है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर बहस शुरू हो रही है। पेट्रोलियम संस्थान से उन्होंने दुनिया भर के लिए प्रतिष्ठित शोध करने का आह्वान किया।

No comments:

Post a Comment