Monday, 24 October 2016

छह होम्योपैथी व आयुर्वेदिक कालेजों को मान्यता नहीं

-तीन आयुर्वेद कालेज मान्यता बहाली में सफल, बढ़ीं 120 सीटें
-कानपुर, मुरादाबाद व गाजीपुर की 140 बीएचएमएस सीटें संकट में
----
राज्य ब्यूरो, लखनऊ: तमाम कोशिशों के बावजूद प्रदेश के छह होम्योपैथी व आयुर्वेदिक कालेजों को मान्यता नहीं मिल सकी है। इस वर्ष तीन आयुर्वेद कालेजों के मान्यता बहाली में सफल हो जाने से बीएएमएस की 120 सीटें बढ़ गयी हैं, वहीं तीन कालेजों की 140 बीएचएमएस सीटें संकट में हैं।
प्रदेश के आठ आयुर्वेदिक कालेजों में बीएएमएस की 320 सीटें हैं। पिछले वर्ष सेंट्रल काउंसिल ऑफ इंडियन मेडिसिन (सीसीआइएम) ने इनमें से छह कालेजों को मान्यता देने से इनकार कर दिया था। तब लखनऊ की 50 व वाराणसी की 40 सीटों को मान्यता मिली थी। इसके बाद साल भर इन छह कालेजों की मान्यता बहाली की कोशिशें चलीं किन्तु विभाग को अधिक सफलता नहीं मिल सकी है। वाराणसी व लखनऊ की मान्यता बहाल रखने के साथ सीसीआइएम ने इस बार बरेली, झांसी व इलाहाबाद के आयुर्वेदिक कालेजों की मान्यता भी बहाल कर दी है। इस तरह बीएएमएस की 120 सीटें बढ़ गयी हैं। सीसीआइएम ने दोनों सरकारी यूनानी कालेजों को मंजूरी दे दी है। सीसीआइएम से कुछ राहत मिलने के बाद चिकित्सा शिक्षा महकमे को सेंट्रल काउंसिल ऑफ होम्योपैथी (सीसीएच) से झटका मिला है। प्रदेश के सात होम्योपैथी कालेजों में बीएचएमएस की 300 सीटें हैं। इनमें से सीसीएच ने आजमगढ़, लखनऊ, फैजाबाद व इलाहाबाद होम्योपैथी कालेजों की 160 सीटों को मान्यता दे दी है। शेष तीन कानपुर, मुरादाबाद व गाजीपुर के होम्योपैथी कालेजों को इस बार अब तक मान्यता नहीं मिली है। इन कालेजों में बीएचएमएस की 140 सीटें संकट में हैं। अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने उम्मीद नहीं छोड़ी है। अगले कुछ दिनों में कुछ और कालेजों को मान्यता मिल सकती है। आयुष काउंसिलिंग तक जिन कालेजों को मान्यता मिल जाएगी, उन सभी को काउंसिलिंग में शामिल कर लिया जाएगा।
आयुष काउंसिलिंग 18 से
प्रदेश के आयुर्वेदिक, होम्योपैथी व यूनानी कालेजों में प्रवेश के लिए आयोजित आयुष प्रवेश परीक्षा की काउंसिलिंग 18 अक्टूबर से होगी। चिकित्सा शिक्षा महानिदेशक डॉ.वीएन त्रिपाठी ने बताया कि राजधानी के संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में प्रदेश के सरकारी व निजी कालेजों में बीएएमएस, बीएचएमएस व बीयूएमएस कक्षाओं में प्रवेश के लिए काउंसिलिंग होगी। संयुक्त प्री-आयुष परीक्षा (सीपैट) में सफलता पाने वाले 300 रैंक तक के विद्यार्थी 18 अक्टूबर को सुबह 9:30 बजे से एक बजे तक पंजीकरण कराएंगे और दो बजे से उनकी काउंसिलिंग होगी। 301 से 1000 रैंक तक के विद्यार्थी 18 अक्टूबर को दोपहर एक बजे से सायं पांच बजे तक पंजीकरण कराएंगे और 19 अक्टूबर को सुबह 10 बजे से उनकी काउंसिलिंग होगी। 1001 रैंक से ऊपर की रैंक वाले सभी विद्यार्थी 19 अक्टूबर को पंजीकरण कराएंगे और 20 अक्टूबर को उनकी काउंसिलिंग होगी।
(14/10/16)

No comments:

Post a Comment