Wednesday, 13 July 2016

बस से जाओ, काम करो और घर लौटो


-----
-रोडवेज इसी माह लांच करेगी रैपिड लाइन बस सर्विस
-सभी महानगरों व प्रमुख शहरों को जोड़ेंगी 203 बसें
-----
डॉ.संजीव, लखनऊ : आपको अपने घर के आसपास के किसी महानगर या अन्य शहर में कोई काम है और वहां रुकना भी नहीं चाहते, तो इसी माह लांच हो रही रोडवेज की रैपिड लाइन बस सर्विस राह आसान कर देगी। यह सेवा सभी महानगरों व प्रमुख शहरों को सीधे जोडऩे के साथ उसी दिन अनिवार्य वापसी वाली होगी, ताकि लोग बस से जाकर अपना काम निपटाते हुए घर लौट सकें। 203 बसों से इस सेवा की शुरुआत होगी।
पूरे प्रदेश में रोडवेज की बसें तो चलती हैं किंतु दो शहरों के बीच डेडिकेटेड (समर्पित) बस सेवा अभी बहुत प्रभावी नहीं है। उसमें भी बसों का संचालन समयबद्ध ढंग से न होने से दिक्कत आती है। परिवहन निगम ने अब इस समस्या से मुक्ति के लिए रैपिड लाइन बस सेवा की पहल की है। सभी प्रमुख महानगरों को जोड़ते हुए ऐसी बसें चलाई जाएंगी, जो सुबह रवाना हों और शाम को हर हाल में वापस आ जाएं। पहले चरण में 203 सामान्य बसें चलाई जाएंगी और इनका किराया भी मौजूदा दरों पर होगा। ये बसें चिह्नित कर चालकों व परिचालकों की ड्यूटी लगाने का काम भी पूरा कर लिया गया है। निर्धारित रूट पर पडऩे वाले सभी जिला मुख्यालयों में बसें रुकेंगी और वहां बस पहुंचने व लौटने का समय भी निर्धारित कर दिया गया है। किसी भी स्तर पर गड़बड़ी रोकने के लिए पूरी सेवा पर मुख्यालय से ऑनलाइन नजर रखी जाएगी।
औसतन 200 किमी का रूट
इस बस सेवा को सुविधापूर्ण बनाने के लिए औसतन 200 किलोमीटर का रूट बनाया गया है। कुछ रूट 250 किमी तक होंगे तो कुछ 175 किमी तक के भी हो सकते हैं। राजधानी लखनऊ से इलाहाबाद, आजमगढ़, बहराइच व बलरामपुर के लिए बसें चलेंगी तो पूर्वांचल में गोरखपुर से वाराणसी, गाजीपुर, आजमगढ़ को जोड़ा जाएगा। बुंदेलखंड में झांसी-कानपुर, बांदा-लखनऊ, चित्रकूट-लखनऊ जैसे रूट बनाए गए हैं तो पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आगरा, मेरठ, सहारनपुर व मुरादाबाद को जोड़ा गया है।
आठ बजे प्रस्थान, चार बजे वापसी
चिह्नित स्थानों से ये बसें सुबह आठ बजे चलेंगी। औसतन चार घंटे की यात्रा के बाद ये बसें हर हाल में दोपहर 12 बजे तक अंतिम गंतव्य तक पहुंच जाएंगी। लोगों के पास अपने तात्कालिक काम निपटाने के लिए चार घंटे का समय होगा। वहां से ये बसें सायं 4 बजे वापस चलेंगी और रात आठ बजे तक प्रस्थान स्थल पर वापस पहुंच जाएंगी।
25 को उद्घाटन
रैपिड लाइन सेवा रोडवेज की महत्वाकांक्षी योजना है। इससे दैनिक यातायात की जरूरतें पूरी होंगी और यात्रियों को अधिकाधिक लाभ मिल सकेगा। इसके मार्गों आदि को अंतिम रूप देकर बसें भी चिह्नित कर ली गयी हैं। 25 जुलाई को इसका औपचारिक उद्घाटन होगा। इसके लिए तैयारी शुरू कर दी गयी है।
-आशीष गोयल, प्रबंध निदेशक, उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम

No comments:

Post a Comment