Friday, 29 January 2016

...फिर भी नहीं पहुंचे शुल्क प्रतिपूर्ति के डेढ़ लाख फार्म


---
-आवेदन फॉरवर्ड करने के लिए सात फरवरी तक का समय
---
राज्य ब्यूरो, लखनऊ : कई बार मौका देने के बावजूद दशमोत्तर छात्रवृत्ति व शुल्क प्रतिपूर्ति के डेढ़ लाख फार्म अब तक जिलों से राज्य मुख्यालय नहीं पहुंचे हैं। अब ऐसे सभी संस्थानों को आवेदन फॉरवर्ड करने के लिए सात फरवरी तक का समय दिया गया है।
प्रदेश में दशमोत्तर छात्रवृत्ति व शुल्क प्रतिपूर्ति छात्र-छात्राओं के खातों में भेजने के लिए 31 जनवरी तक की तारीख निर्धारित की गयी थी। इस दौरान कई बार फार्म भेजने के मौके दिये जाने के बावजूद तमाम संस्थानों ने छात्र-छात्राओं के आवेदन ही नहीं भेजे। शुक्रवार को इस बाबत हुई समीक्षा में पता चला कि 1,45,984 छात्र-छात्राओं के आवेदन डेटा वेरीफाई होने के बावजूद फॉरवर्ड नहीं किये गए। इसे संस्थानों की लापरवाही माना गया किन्तु कहा गया कि इसमें विद्यार्थियों की कोई गलती नहीं है। संस्थानों की लापरवाही का खामियाजा विद्यार्थियों को न भुगतना पड़े, इसलिए इन सभी को आवेदन फॉरवर्ड करने के लिए एक से सात फरवरी तक का समय और दे दिया गया है। इसके बाद आठ से 14 फरवरी तक एनआइसी की राज्य इकाई में सभी आवेदनों की स्क्रुटनी होगी और उसके बाद दूसरे दौर में इन विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति व शुल्क प्रतिपूर्ति की राशि उनके खातों में भेज दी जाएगी। इस बीच दस लाख विद्यार्थियों के आवेदन अंतिम रूप से डिजिटली लॉक हो चुके हैं। इन सभी को फरवरी के दूसरे सप्ताह में छात्रवृत्ति व शुल्क प्रतिपूर्ति भेजने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

No comments:

Post a Comment