Thursday, 31 December 2015

सुबह बनीं परिवार कल्याण महानिदेशक, शाम को रिटायर

----
- डॉ.योगेंद्र कुमार बनाए गए स्वास्थ्य महानिदेशक
- डॉ.एमआर मलिक को परिवार कल्याण का प्रभार
----
राज्य ब्यूरो, लखनऊ : स्वास्थ्य महकमे के लिए वर्ष का आखिरी दिन गहमा-गहमी भरा रहा। एक माह से कार्यवाहक रहीं डॉ.मीनू सागर ने सुबह स्थायी परिवार कल्याण महानिदेशक का काम संभाला और शाम को रिटायर हो गयीं। उनकी जगह डॉ.एमआर मलिक को परिवार कल्याण महानिदेशक का प्रभार सौंपा गया है, वहीं डॉ.योगेंद्र कुमार स्वास्थ्य महानिदेशक बने हैं।
30 नवंबर को परिवार कल्याण व स्वास्थ्य महानिदेशकों के सेवानिवृत्त होने के बाद डॉ.मीनू सागर व डॉ.योगेंद्र कुमार को कार्यवाहक के रूप में प्रभार सौंपा गया था। इसके बाद मुख्यमंत्री के पास इन दोनों चिकित्सकों की स्थायी नियुक्ति के लिए प्रस्ताव भेजा गया था। एक माह तक प्रतीक्षा के बाद बुधवार को इन दोनों चिकित्सकों की स्थायी नियुक्ति हुई। उसके बाद गुरुवार सुबह डॉ.योगेंद्र कुमार ने स्वास्थ्य महानिदेशक व डॉ.मीनू सागर ने परिवार कल्याण महानिदेशक का काम संभाल लिया।
डॉ.मीनू सागर एक ही दिन के लिए स्थायी परिवार कल्याण महानिदेशक रह सकीं। दरअसल 31 दिसंबर को ही उन्हें सेवानिवृत्त होना था, इसलिए सुबह काम संभालने के बाद शाम को वह रिटायर हो गयीं। उन्होंने अभी तक निदेशक (चिकित्सा उपचार) का काम संभाल रहे डॉ.एमआर मलिक को कार्यवाहक के रूप में प्रभार सौंपा है। अब डॉ.मलिक को स्थायी परिवार कल्याण महानिदेशक बनाने की फाइल मुख्यमंत्री कार्यालय भेजी गयी है। उधर प्रदेश के नए स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ.योगेंद्र कुमार ने कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप समाज के आखिरी व्यक्ति तक सेहत के संसाधन पहुंचाना उनका लक्ष्य है। डॉक्टर समय पर अस्पताल पहुंचें और मरीजों को कोई परेशानी न हो, यह भी सुनिश्चित किया जाएगा।
----

No comments:

Post a Comment