Tuesday, 29 September 2015

शुल्क प्रतिपूर्ति : एक दिन पहले तक जोड़े गए पाठ्यक्रम व बैंक


--
-दशमोत्तर छात्रवृत्ति आवेदन की अंतिम तिथि आज
-विकलांग व पैरामेडिकल पाठ्यक्रमों को मंजूरी
----
राज्य ब्यूरो, लखनऊ : दशमोत्तर छात्रवृत्ति व शुल्क प्रतिपूर्ति के लिए अभ्यर्थी बुधवार यानी तीस सितंबर तक आवेदन कर सकेंगे। समाज कल्याण निदेशालय ने अंतिम तारीख से एक दिन पहले तक आवेदन के लिए मान्यता प्राप्त पाठ्यक्रम व खातों में राशि पहुंचाने के लिए बैंक जोडऩे को मंजूरी दी।
प्रदेश में दो लाख रुपये से कम वार्षिक आय वाले अभिभावकों के बच्चों की पढ़ाई न रुकने देने के लिए शासन स्तर पर छात्रवृत्ति व शुल्क प्रतिपूर्ति योजना का संचालन किया जाता है। समाज कल्याण विभाग इसके लिए नोडल विभाग के रूप में काम करता है। साथ में पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग और अल्पसंख्यक कल्याण विभाग की भी सक्रियता रहती है। बारहवीं के बाद विभिन्न प्रोफेशनल पाठ्यक्रमों को छात्रवृत्ति व शुल्क प्रतिपूर्ति के लिए मान्यता दिए जाने के चलते आवेदकों की भीड़ काफी बढ़ गयी है। समाज कल्याण विभाग द्वारा जारी शुरुआती कैलेंडर में 15 जुलाई तक आवेदन की अंतिम तारीख घोषित की गयी थी, फिर कई संस्थानों में परीक्षाफल न घोषित होने जैसी समस्याएं आने पर तारीख बढ़ाकर 30 सितंबर करनी पड़ी। अनेक संस्थान भी नामांकन के लिए समाज कल्याण विभाग की मान्यता सूची में नहीं जुड़े थे, उन्हें 20 सितंबर तक का अतिरिक्त समय भी दिया गया।
बुधवार को अंतिम दिन होने के कारण ऑनलाइन आवेदन में तेजी आयी। इस बीच मंगलवार को समाज कल्याण विभाग ने विकलांगों के लिए शकुन्तला मिश्रा विश्वविद्यालय द्वारा चलाए जा रहे कुछ पाठ्यक्रमों को मान्यता प्रदान की है। इसके अलावा कुछ पैरामेडिकल पाठ्यक्रमों को भी इस सूची में जोड़ा गया है। अब इनके छात्र-छात्राएं भी बुधवार तक आवेदन कर सकेंगे। अधिकारियों के मुताबिक अब अंतिम तारीख बढऩे की उम्मीद नहीं है। सभी आवेदन आ जाने के बाद जिला स्तरीय जांच समिति उनकी जांच कर उन्हें लॉक करेगी। उसके बाद समयबद्ध ढंग से सभी छात्र-छात्राओं के खातों में छात्रवृत्ति व शुल्क प्रतिपूर्ति स्थानांतरित की जाएगी। इसके लिए अब तक शामिल बैंकों के साथ सीबीएस सुविधा वाले कुछ ग्र्रामीण बैंकों को भी जोड़ा गया है।

No comments:

Post a Comment